Bijay Bingul | Resistance song | AKHRA

आंदोलन जारी था, जारी है और जारी रहेगा! आज दुनिया के अलग अलग हिस्सों में जन आंदोलन जारी है. अखड़ा भी आंदोलन गीतों के जरिये अपनी सहभागिता हमेशा बनायीं है. विजय बिंगुल भी उन्ही आंदोलन गीतों का एक हिस्सा है. 1992 से चल रही नेतरहाट आंदोलन में लोगों के अंदर जोश भरने के लिए 1996 में ये गाना लिखी और गाई गयी.

 

भाग: 2 ग्राम गणराज्य के बारे में विनीत मुंडू से ख़ास बातचीत

भारत के आज़ाद हुए 70 साल हो गए तथा 70 प्रतिशत लोग गाँवों में रहते हैं। इतने सालों में क्या भारत की शासन व्यवस्था गाँव तक पहुँच पायी??

जिस भारत की कल्पना महात्मा गांधी ने गाँव के विकास को लेकर देखा था क्या वो पूरा हो पाया??

क्या भारत में ग्राम गणराज्य का सपना पूरा हो पाया??

भाग-3 : झारखंड आंदोलन में सांस्कृतिक योगदान_मधुमंसूरी ‘हंसमुख’ से खास बातचीत

जयपाल सिंह की झारखंड पार्टी के विलय के बाद झारखंड आंदोलन लगभग समाप्त हो चुकी थी इसे फिर से जिंदा करने के लिए झारखंड के विभिन्न संस्कृतिकर्मी सामने आए. इन्होंने अपनी गीतों और कविताओं के माध्यम से लोगों में चेतना जगाने का काम किया. यह वह दौर था जिसने लोगों के अंदर झारखंड आंदोलन को लेकर नई ऊर्जा प्रदान की और लोग बढ़-चढ़कर झारखंड आंदोलन में अपनी भागीदारी दिखाई.